सोमवार, 19 अक्तूबर 2015

घर बैठे कमाए महिलाए ।

आज हमारे समाज मे व्यक्ति के उपयोग मे आने बाली वस्तूओ मे सबसे जायादा वस्तूए 'धातू और प्लास्टिक की पाई जाती है ।जैसे -इलेक्टानिक सामान 'बच्चो के खिलोने 'वाहन 'बर्तन' डिब्बे आदि जव यह वस्तुए अनउपयोगी हो जाती है ।तो घर के बच्चे य महिलाए इन टूटी -फूटी या बेकार धातू और प्लास्टिक की  चीजो को कूडे मे फेक देते है'या फिर फेरी बाले कबाडी को मिटटी के मोल बेच देते है ।
पर क्य  आपने कभी यह सोचा है । कि अनउपयोगी होने के बाद भी धातू और रवर की चीजे अब भी 50%  कीमत की होती  है ।
और इलेक्द्रानिक सामानो  मैं महगी धातुए  ताँबा (कापर) आदि  होता है । और कापर 1000रू  किलो के लगभग   बिकता है । 
घरेलू महिलाए घर के वेस्टेज कबाड से रूपये बनाने का काम आसानी से कर सकती हैं । और इससे वह हर माह 1000रू के लगभग हर माह कमा सकती है । छोटा ही सही इसे अपनी आय का सधन बना सकती हैं ।
इसके लिए महिलायो को सबसे पहले २कूडेदान के डिब्बे तैयार करना होगा' जिनमे से एक के उपर  "धातू का कचडा " और दूशरे के उपर "प्लास्टिक का कचडा "लिखकर ।  इन दोनो डिब्बो को घर के पिछवाडे या किसी कोने में रख दे ।और धातुओ व प्लास्टिक का खराब सामान फेरी वाले कबाडी को कभी न बेचे और न ही बच्चो को बेचने दे ।वल्कि इसे इन कूडेदानो मे संगृह करते रहे । जव भी घर मे कोइ एसी वस्तू टूट -फूट जाए या वेकार हो जाए 'तब आप उसे तुरंत ही इन डिब्बो मे डाले और छोटी से छोटी वस्तुए व उनके तुकडे भी इन कूडेदानो मे जरूर डालते रहे ।
और महिने दो महिने मे इन डिब्बो मे डबाड इकटठा होने पर 'इसे बोरो मे भर कर बाजार मे कबाड  की बडी दुकान पर ले जाकर बेचे ।वहाँ आपका कबाडा किलो के हिसाब से तुलकर सही कीमत पर बिकेगा ।जिससे आपके हाथ मे कुछ रूपये जरूर आएगे ।
घर के वेस्टेज सामान को बाजार मे बेचने मे संकोच न करे । या एसा न समझे की बाजार मे लोग हमे कबाड बेचते हुए देखेगे तो हमारी इनसलट होगी । आजी पैसे बनाने मे किस बात की शर्म 'करना ।लोग तो पैसे के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते है ।आपने टीवी पर कम कपडो मे महिलाए जरूर देखी होगी । हम तो केवल अपने घर का कबाड ही बेच रहे है। 
मित्रो आपको यह लेख केसा लगा ।कृपया कमेंट करे ।
Seetamni@gmail. com

रबर बलून विजनस 500₹ से शुरू ।

गु व्वा रे 🎈💃 रबर बलून से तो सभी परिचित है जिनहे फुग्गा और गुब्बारा भी कहा जाता है । हम सभी ने अपने बचपन मे जरूर गुब्बारे खेले होगे ।गुब...