संदेश

February, 2016 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

करोडपति भिखारी !

यह एक एसे भिखारी का किस्सा है ' जिसके पास करोड़ों की धन संपत्ति होते हुए भी वह भीख मॉगता है । इस भिखारी के पास  अपना खुद का एक  अलीशान होटल भी है 'जिसका यह मेनेजर भी है । पर  इस  आदमी का भीख मॉगने का उसूल है । वह प्रतिदिन सुबह एक बार किसी न किसी व्यक्ति से भीख जरूर मागता है ।उसकी इस हरकत से होटल के सभी कर्मचारी नफरत करते है । और कहते है कि सर  आप  इस होटल के मेनेजर है ' और  आपको भीख मॉगने मे शर्म नही आती " यह सुनकर मेनेजर मुस्कुराते हुये कहता है _ की वह  एक जमाने मे भिखारी ही था ' और वह  अपने उस दिन को भूलना नही चाहता ' एवं उसे हमेशा धन की अहमियत का अहसास रहे । इसलिए वह दिन एक बार भीख जरूर मॉगता है । उसका कहना है की मे आज जो कुछ भी हू ' अपने इसी उसूल की वजह से हू ।
अब जब भिखारीयो की बात चल ही रही है तो एक  और लखपति भिखारी का वाकया सुनो _ पुरानी बात है किसी मंदिर के दरवाजे पर बैठकर  एक भिखारी भीख मगता था । जब वह भिखारी मरा तो लोगों ने उसका संस्कार कर दिया । और  उसके सामान को एक बॉस मे लटका कर फेकने के लिए ले जाने लगे ' तभी उस सामना मे से कुछ सिक्के गिरे…

बिजनेस जमीन का सदा लाभदायक ।

समय के साथ ही बढता है 'धरती का मोल !
संसार की सभी वस्तुओं मे ' जमीन एक  एसी अचल संपत्ति है । जिसका भाव हमेशा बढता ही रहता है । क्योंकि जमीन का क्षेत्रफल स्थायी है ' जिसे माग के अनुसार बढाया नहीं जा सकता है ।जनसंख्या की लगातार वृद्धि होने के साथ ही उपयोग के लिए जमीन कम पडना सोभाविक है । और जिसके कारण जमीन की माग हमेशा बरकरार रहती है । चाहे आवास  के लिए हो या खेती के लिए या फिर कारखाने लगाने के लिए जमीन की माग हो । और भूमि का मूल्य हमेशा बढता ही रहता है ।
जमीन के कारोबार मे हमेशा लाभ !
जमीन के गणित को समझने वाले व्यापारी जमीनो के व्यापार मे हमेशा ही खूब मुनाफा कमाते है । एसे व्यापारी नगरों या महानगरों से कुछ दूरी पर बंजर जमीने सस्ते रेट पर खरीदते है । एवं कुछ साल बाद जमीन का भाव बढने पर यह लोग  जमीन को आवास के लिए तुकडो मे बेचते है । लेकिन  जमीन खरीदने से पहले यह लोग उस नगर की जनसंख्या वृद्धि आदि के अॉकडो से यह  अॉकलन कर लेते है कि कितने साल मे शहर इस जमीन की दूरी तय कर लेगा और  उस समय  इस जमीन का अनुमति भाव क्या होगा । यानी की मनी चौगनी होगी की आठ गुनी । 
जमीन के दलाल मालामाल …

व्यापार मे लाभदायक प्रकृतिक वस्तुएं ।

प्राकृतिक वस्तुओं को पैदा होने मे समय लगता है । एवं कुछ कुदरती वस्तुओं की पैदावार सीमित है ।जिसके कारण  इन वस्तुओं का हमशा अभाव ही बना रहता है ।अर्थशास्त्र के नियम अनुसार _जिन वस्तुओं का अभाव होता है ' उन वस्तुओं की मांग अधिक होती है । एवं वस्तु का भाव ( मूल्य) भी ऊचा रहता है ।
प्राकृतिक वस्तुओं के व्यापार मे सबसे बडी सुविधा यह है 'कि इन वस्तुओं के बाजार मे प्रतिस्पर्धा बहुत कम है ।जवकी मानव निर्मित वस्तुओं का उत्पादन  उपयोग की तुलना मे अधिक होने से बाजार मे बहुत स्पर्धा है । क्योंकि जो असली वस्तु कुदरती रूप से छह माह मे तैयार होती है ' वही कृत्रिम वस्तु इंडस्ट्री मे रसायनो और मशीनों से 24 घंटे मे तैयार हो जाती है । मानव निर्मित वस्तुएं पैदा करना सरल हो गया है । बेचना कुछ कठिन हो गया ।
अॉकडो के मुताबिक वर्तमान मे नेचुरल  उत्पादो की तरफ  उपभोक्ताओं का रूझान दिन प्रति वढ रहा है ।रसायन मुक्त खाद्यान्न आदि की माग वढ रही है ।
व्यापार मे लाभदायक कुछ प्राकृतिक वस्तुएं जैसे _
दुर्लभ जडी बूटी ' मेवा ' दूध ' शहद ' रेशम ' चमडा ' फूल ' फल ' बीज ' मशरूम …

बेबी उत्पादो पर अधिक मुनाफा ।

बेबी उत्पादो का करोवार  अधिक लाभदायक है । क्योंकि बच्चों की उपयोगी वस्तुएं बनाना और बेचना अन्य वस्तुओं की तुलना मे काफी सरल होता है । साथ ही इनके व्यापार मे लाभ भी अधिक होता है ।

बच्चों के लिए वस्तुएं खरीदने मे मॉ -बाप भी कंजूसी नहीं करते ' और  अपने बच्चों की खुशी के लिए दिल खोलकर धन खर्च करते है ।कभी कभी बाजार मे बच्चे दूकान पर किसी खिलोने को लेने की जिद पर  अड जाते है ' तो फिर मम्मी पापा को हर हाल मे वह खिलोना खरीदना ही पडता है । चाहे दुकानदार कितना ही मेहगा क्यों न दे ।

बच्चों की उपयोगी चीजें इनके जन्म दिन आदि पर  उपहार मे देने के लिए भी लोग  अधिक खरीदते है ।बच्चों के बर्थ डे पर तो खिलोनो और बेबी सूट का अंवार सा ला जाता है ।
व्यापार के लिए लाभदायक बच्चों की वस्तुएं ।

खाने पीने की चीजे _ आइसक्रीम ' पापकॉर्न ' टॉफियॉ ' चॉकलेट ' ।बच्चों के कपड़े _ बेबी सूट ' फ्राक ' टी सर्ट ' हगीस ' टोपी ।डिजिटल आइटम _ गेम ' कार्टून वीडियो ' ।फुटवेयर _  जूता  ' चप्पल ' ।स्कूल सामग्री _ स्कूल वेग ' लंच बाक्स ' पेन बाक्स ।अन्य वस्तुएं _ टूथ ब्र…

गरीबी मिटाने का ' बृहम् अस्त्र ' ।

चित्र
गरीब आदमी चाहे तो वह मात्र छह महिने मे अपने घर परिवार की निर्धनता मिटा सकता है । इसका विकल्प है 'मुद्रा पंजी ' जिसके अधार पर  अमल करते हुए चल कर ' व्यक्ति गरीबी से छुटकारा ले कर  अमीरी की राह पर  अगे बड सकता है ।और धन संपंन होकर खुशहाल जीवनशैली जी सकता है ।

अब  आप कहेगे कि आखिर यह ' मुद्रा पंजी ' है क्या ! 
इसे समझने के लिए हम नीचे इसका प्रारूप उदाहरण के लिए दे रहे है ।जिसके आधार पर कोई भी अपने घर की मुद्रा पंजी बना सकता है ।
                            मुद्रा  पंजी 
मासिक आय व्यय का ब्यौरा ।
पहला महिना

सट्टा ' गॉजा ' तम्बाकू '  चाय ' शराब ' आदि पर खर्च = 2000₹  यत्रा ' रिस्तेदारी ' त्योहार ' जेवर ' दान ' आदि पर खर्च =2000₹भोजन ' कपडा ' मकान ' पढाई ' बीमारी ' आदि पर खर्च =6000₹कुल मसिक खर्च =10000₹कुल मासिक आय=8000₹कुल मासिक कर्ज =2000₹=10000₹ ।दुशरा महिना

सट्टा _______________आदि पर गैर जरूरी खर्च=×यात्रा________________आदि पर शौक ' चाहते पर खर्च =×भोजन 'कपडे ' मकान ' पढाई आदि पर अनिवार्य जरूरत ख…

उत्पाद बिक्री के सफल उपाय ।

तकनीकी विकास के साथ ही सरकारी सहयोग से आज  उधोग लगाना एवं उत्पाद तैयार करना बहुत सरल हो गया है । लेकिन उत्पाद को बेचने का काम बहुत टेडी खीर है । क्योंकि आज बाजार मे इतना कंप्टीशन है 'जिसके चलते नये उत्पाद बाजार मे चलाना बहुत कठिन होता है । बाजार मे दस  अनार एक बीमार वाली स्थित है ।
प्रोडक्ट सेलिंग के {successful}  टिप्स ।
मुफ्त का मोखिक विज्ञापन ।उच्चतम गुणवत्ता के उत्पाद का उपयोग करने के बाद उपभोक्ता स्वयं ही दूशरो से 'उत्पाद के गुणों की चर्चा करते है । इस तरह 'क्वालिटी प्रोडक्ट' का मुफ्त मे ही विज्ञापन हो जाता है ।
चेन सिस्टम से उत्पाद बिक्री ।जंजीर श्रंखला से ग्राहक जोड़कर वस्तु बेचने की स्कीम बहुत कारगर है । जिसमें ग्राहको को दो नये ग्राहक जोडने पर कुछ उपहार देने की ब्यवस्था रखी जाती है ।इस स्कीम से उत्पाद या सेवा के ग्राहक बहुत तेजी से शाखाओं की तरह बढते है ।
गेरंटी के साथ उत्पाद बिक्री । बिक्रेता की पक्की लिखित गेरंटी वारंटी के साथ वस्तुएं खरीदना ग्राहक अधिक पसंद करता है ।क्योंकि वह वस्तु के साथ दिये गये भरोसे से संतुष्ट रहता है ।उदाहरण के लिए _ आज  एक 25 रू कीमत का…