दिमाग तेज करने का तारीका ।

आदमी शारीरिक रूप से सब जानवरों मे सबसे कमजोर प्राणी है । लेकिन दिमाग के कारण  आदमी प्रथ्वी का सबसे उत्तम प्राणी माना जाता है । बैज्ञानिको के मुताविक  आज तक मनुष्य के आधे दिमाग का उपयोग ही नही हुआ है ।आधा दिमाग बंद ही है । आइंस्टीन जैसे बडे बडे बैज्ञानिक तक  अपने दिमाग का 25% तक ही उपयोग कर पाए है । मनुष्य का दिमाग पेराशूट की तरह है जितना खोलो उतना ही बढता जाता है ।
निराहार शरीर मे दिमाग बहुत तेज काम करता है । यदि यकीन ना आए तो आप  एक दिन  उपवास कर  अपने दिमाग की चाल देखिए । दुनिया का हर समझदार बक्ता निराहार रहकर ही बोलता है । कथा बाचक ' प्रबचन कर्ता या भाषण करने वाले यह निराहार या अल्प  अहार के बाद ही कुशलता से धारा प्रवाह बोलते रहते है । क्योकि निराहार शरीर मे जरठ  अग्नि को भोजन पचाने का काम नही रहता तब वह दिमाग की सहायता करती है ।
बृम्ही बूटी _ दिमाग तेज करने की सबसे तज  औषधि बृम्ही मानी गई है ।इसके सेवन से दिमाग तेज होता है ।
शीर्ष आसन करने से दिमाग कमजोर होता है । यह बैज्ञानिक तथ्य है । मनुष्य का दिमाग  इसलिए विकशित हुआ की मनुष्य ने दो पैरो पर चलना शुरू किया ।जबकि सभी जानवर चार पैर पर चलते है और  उनका सिर झुका रहता है इसलिए शरीर मे खून का बहाव दिमाग पर भी पहुचता है और खून के तेज संचार के कारण दिमाग मे बारीक कोशिकाए पैदा ही नही हो पाती इसलिए जानवरो के दिमाग का वकास नही होता । आप चिपाजी को ही देखिए दो पेर पर चलता है तो उसमे कुछ दिमाग होता है ।
तम्बाकू या तम्बाकू से बने पदार्थ खाने से भी दिमाग खराब होता है । अन्य सभी मादक पदार्थ खाने से दिमाग की सोच विचार करने की क्षमता घटती है साथ ही यादास्त कम होती है ।
प्राणायाम _ अन्यलोम बिलोम प्राणायाम करने से दीर्ध आयू तक दिमाग समान काम करता रहता है ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

दुकानों की बिक्री बढाने के तरीके ।

जमीन मे सोने की खोज ।

खेतों मे प्लास्टिक कचरे का खतरा ।